Powered By Beeps Studio © 2019
MAGAHI

The folk music of Bihar has so deeply permeated in the life of the people that it is still alive. It has been preserved infact by the women folk of Mithila in particular and by the village folk, especially the devotees who still keep it alive. It is a pleasure to hear women sing the songs. Bihar, in the ancient times has been an important place for dance and music. In places like Vaishali and Rajgir, in ancient Bihar, beautiful girls acted asNagar Shobhinis or town ornaments (courtesans).

मगही या मागधी भाषा भारत के मध्य पूर्व में बोली जाने वाली एक प्रमुख भाषा है। इसका निकट का संबंध भोजपुरी और मैथिली भाषा से है और अक्सर ये भाषाएँ एक ही साथ बिहारी भाषा के रूप में रख दी जाती हैं। इसे देवनागरी लिपि में लिखा जाता है। मगही बोलनेवालों की संख्या (2002) लगभग १ करोड़ ३० लाख है।मुख्य रूप से यह बिहार के गया, पटना, राजगीर,नालंदा ,जहानाबाद,अरवल,नवादा और औरंगाबाद के इलाकों में बोली जाती है। मगही का धार्मिक भाषा के रूप में भी पहचान है। कई जैन धर्मग्रंथ मगही भाषा में लिखे गए हैं।

Offline
Online Subscription