Powered By Beeps Studio © 2019

Dadra tal is six or three beat tal which is extremely common in the the lighter forms of music.  It is is commonly found in qawwalisfilm songsbhajansgazals, and folk music throughout India.

The name is derived from its association with the dadra style of singing.  This is a semiclassical form that is somewhat similar to thumri.  The dadra style of singingin turn, derives its name from the place where it began.

There are a number of reasons for Dadra's extreme popularity.  One reason is the ease in performing in three and six beats; it is very symmetrical and posses no great challenge.  Another reason for it being so common lies in the Indian taxonomy of tals.  Virtually any tal of three, six, and 12-matras of folk origins, is routinely lumped under the title of Dadra.  Even though they may have no cultural connections, traditional Indian musicology considers them to be the same tal.  Therefore, the large number of musical tributaries contributes greatly to the variety of prakars, its popularity, and the geographical distribution of Dadra.

Tabla Dadra Taal - Beeps Musical Team
00:00 / 00:00

दादरा ताल छह या तीन मात्रा  जो संगीत के हल्के रूपों में बेहद आम है। यह आमतौर पर कव्वाली, फिल्मी गाने, भजन, गज़ल, और लोक संगीत पूरे भारत में पाया जाता है। दादरा नाम गायन की दादरा शैली के साथ अपने सहयोग से ली गई है। यह एक सुगम संगीत का रूप है तो कुछ हद तक ठुमरी के समान है। गायन की बारी की दादरा की शैली, वह जगह है जहां यह शुरू से अपने नाम का है।


दादरा की चरम लोकप्रियता के कइ कारण है। कारण यह है कि तीन और छह मात्रा में प्रदर्शन करने में आसान होता है; दादरा ताल भारतीय तालों में बहुत ही आम तथा लोकप्रिय है। 


इस ताल को बारह मात्रा में बजाने पर लोक-संगीत का अहम ताल हो जाता है। हालांकि वे कोई सांस्कृतिक संबंध हो सकता है, पारंपरिक भारतीय संगीत की विद्या समझता है उन्हें एक ही ताल होने के लिए। इसलिए, संगीत सहायक नदियों के बड़ी संख्या में prakars की विविधता, इसकी लोकप्रियता, और दादरा की भौगोलिक वितरण के लिए काफी योगदान देता है।

ताल - मात्राओं के समूह को भारतीय संगीत में ताल कहते हैं .हर ताल कुछ निश्चित संख्या के अंकों ( संख्या ) से बनी होती है . इन्हीं अंकों को मात्रा नाम दिया गया है ,क्यों ? - क्योंकि मात्रा शब्द हिंदी भाषा का शब्द है ,जों किसी भी चीज़ को नापने के काम आता है या संख्या बताने के काम आता है .

ताल में यही मात्रा शब्द ताल की लम्बाई का अनुमान लगाने के काम आता है ,उदहारण के लिए -तीनताल मे 16 मात्रा होती है अर्थात एक से लगाकर सोलह अंक से बनती है तथा दादरा ताल मे एक लगाकर 6 तक अंक होते है जिन्हें संगीत का विद्यार्थी इस तरह बताता है -तीनताल सोलह मात्रा से बनती है तथा दादरा ताल छह मात्रा से बनी होती है अतः यह अनुमान लगाना सरल हो जाता है कि तीनताल दादरा ताल से एक बड़ी ताल है .

Tabla Dadra Taal - Beeps Musical Team
00:00 / 00:00